Monday, May 18, 2009

चुनाव यात्रा और नत्तू पांड़े


भारत में चुनाव सम्पन्न हुये। मेरे दो स्वप्न पूरे हुये। पहला था कि कोई दल २०० से ऊपर सीटें ले पाये जिससे सतत ब्लैकमेलर्स का भय न रहे या कम हो। वह कांग्रेस पार्टी की अप्रत्याशित जीत ने पूरा कर दिया। सारे एग्जिटपोलिये अपने जख्म चाट रहे होंगे पर कोई खुले में स्वीकारता नहीं कि उनकी सेफोलॉजी (psephology - चुनाओं का "वैज्ञानिक" विश्लेषण)), पाल्मिस्ट्री या एस्ट्रॉलाजी से बेहतर नहीं!
Ravindra Results श्री रवीन्द्र पाण्डेय और मैं। पीछे चेक वाली कमीज में खड़े मेरे दामाद श्री विवेक हैं। फोटो फुसरो (बोकारो) का है।

दूसरा स्वप्न था कि मेरे समधी श्री रवीन्द्र पाण्डेय पर्याप्त बहुमत से जीत जायें। सो वे जीत गये। गिरड़ीह लोक सभा क्षेत्र से उन्होने झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के श्री टेकलाल महतो को लगभग ९५००० मतों से हरा कर विजय हासिल की।

लिहाजा उनसे मिलने को मैने चास-बोकारो-फुसरो की यात्रा की। दस दिन में यह दूसरी यात्रा थी। पहली यात्रा मेरे नाती के जन्म के कारण थी।

श्री रवीन्द्र पाण्डेय से मुलाकात और नत्तू पांड़े (अभी बुलाने का नाम रखा गया है – हनी) को पुन: देखना – दोनो काज सम्पन्न हुये। श्री रवीन्द्र पाण्डेय के पास तो मिलने मिलाने वालों का हुजूम था। वे अभिवादन करने का स्वागत भी कर रहे थे  और फोन पर अनवरत बधाइयां भी ले रहे थे। मैं उनके साथ फोटो भी ले पाया।

श्री लालकृष्ण अडवानी के प्रधानमन्त्री न बन पाने के कारण उन्हें शायद आगे अवसर न मिल पाये; पर एक सार्थक विपक्ष बनाने और पार्टी को पुन: परिभाषित करने का काम उन्हें करना है।

Honey with Gyanमेरा नाती और मैं।
अभी शायद वे एक सेबेटिकल (sabbatical – सामान्य काम से ब्रेक) पर चले जायें, पर अपने तरीके से अपना रोल तो उन्हें निभाना है!  

नत्तू पांड़े के छोटे हाथ पैर और गोल चेहरे में मैं विभिन्न भाव देखता रहा। उसकी फुन्दनेदार कुलही (टोपी) और सतत सोने/भूख लगने पर रोने की मुद्रायें अभी भी मन में हैं।

लौटानी की चलती गाड़ी चम्बल एक्सप्रेस से गोमो-गया के बीच यह पोस्ट लिखी है। साथी यात्री सो रहे थे और किसी को मेरा यह लैपटॉप पर किटपिट करने का खब्ती पना दिख नहीं रहा था।

इलाहाबाद पंहुचने पर यह अपने शिड्यूल समय से इतर पब्लिश कर रहा हूं।


फुन्दनेदार कुलही (टोपी) -

kulahee एक गांव में चूहा रहता, पीपी उसका नाम
इधर उधर वह घूम रहा था, चिन्दी मिली तमाम
लेकर दर्जी के घर पंहुचा, टोपी की ले आस
हाथ जोड़ कर किया नमस्ते, चिन्दी धर दी पास
“दर्जी मामा टोपी सी दो, करो न हमें निराश
नहीं सिली तो कपड़े काटूं, जितने तेरे पास”
टोपी की तैयार रंगीली, बढ़िया फुन्दनेदार
खुश हो कर फिर पीपी बोला - “मामा बड़े उदार”

---- मेरी बिटिया की नर्सरी कविता का अंश।


39 comments:

  1. समधी जी के जीतने की बधाई..नाती बड़ा प्यारा लग रहा है. :)

    ReplyDelete
  2. नत्तू पांडे बहुत ही क्यूट है!उसे किसी की नज़र न लगे!रविंद्र जी के जीतने की बधाईयां।

    ReplyDelete
  3. बहुत बधाई ..रविन्द्र जी को जीत की ..और आपको सपने पूरा होने की.

    ReplyDelete
  4. बधाई!! नाती बहुत मासुम है.. ढेर सारा प्यार..

    ReplyDelete
  5. बहुत बहुत बधाई आपको भी और आपके समधी जी को भी ...बच्चा प्यारा है

    ReplyDelete
  6. आपको और आपके समधी जी दोनों को बधाई, बच्चे तो प्यारे होते ही हैं. अभी तो नन्हा सा है. आभार.

    ReplyDelete
  7. नत्तू का क्या अर्थ है ?
    समधी साहब को बधाई..

    तो अब अगले लोकसभा चुनाव में आप भी टिकट ले लीजिये..

    ReplyDelete
  8. बधाई , चुनाव में आपके समधी की विजय पर

    ReplyDelete
  9. समधी जी की जीत पर बधाई.
    टोपी फुन्दनेदार भी बढ़िया अनुभूति है. साझी करने के लिए आभार.

    ReplyDelete
  10. @ कुश > नत्तू का क्या अर्थ है ?---------
    नत्तू तो नाती का देशज प्रिय संस्करण है। और अवधी में कहें तो नतुआ!

    बहुत प्यार आये तो लता लतू हो जाती है। सत्येन्द्र सत्तू हो जाता है (आजकल के छोरा-छोरी के सम्बोधन)। तो हम पुराने जमाने वाले नाती को नत्तू तो कर ही सकते हैं! :)

    ReplyDelete
  11. बारम्बार बधाई भईया...हनी जी तो बहुत स्मार्ट हैं...और समधी जी भी...जीत की ख़ुशी सभी के चेहरे पर फब रही है..
    नीरज

    ReplyDelete
  12. अच्‍छा .. तो आपने अपनी पुत्री के बोकारों में होने की चर्चा की थी .. एक दिन नाती के बारे में भी लिखा था .. पर मालूम न था कि श्री रवीन्द्र पाण्डेय जी ही आपके समधी है .. उन्‍हें तो हमलोग अच्‍छी तरह जानते हैं .. उनके पर्याप्त बहुमत से जीत की संभावना हमलोगों को भी थी .. बहुत बहुत बधाई आपको।

    ReplyDelete
  13. आपके समधी चुनाव जीत गए, थंपिंग विक्टरी, इसके लिए आपको और उनको बधाई।

    नत्तू पांडे वाकई बहुत क्यूट है। :)

    ReplyDelete
  14. श्री रवीन्द्र पाण्डेय जी और आपको भी बहुत बधाई !
    चिरंजीवी नत्तू पांडे के चेहरे पर भी अनिर्वचनीय मुग्धता का भावः सहज ही देखा जा सकता है !

    ReplyDelete
  15. बधाई समधी जी के जीतने और दोहिते को पुनः खिलाने की ख़ुशी मिलने की. ये ख़ुशी बार बार आये.

    ReplyDelete
  16. दोहरी बधाई :-)

    ReplyDelete
  17. समधी साहब के जीत की बहुत बहुत बधाई....

    नाती को गोद में लेकर कैसा लग रहा होगा,अनुमान लगा सकती हूँ....
    अभी मैं भी अपनी डेढ़ महीने की भतीजी के साथ अनिर्वचनीय सुख लाभ कर रही हूँ....

    ReplyDelete
  18. आपको, रवीन्द्र जी को और चिरंजीव नत्तू पांडे जी को बधाई और शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  19. नत्तू पाण्डे के नाना और दादा को खूब खूब बधाइयां ....

    ReplyDelete
  20. रवीन्द्र जी को जीत की बधाई ।
    और नर्सरी राइम तो बड़ी प्यारी है ।

    ReplyDelete
  21. समधी जी की जीत पर उनको और आप को बधाई, नत्तू पाण्डे बहुत क्यूट लग रहे हैं। ये नरसरी की कविता हमने पहली बार सुनी…:)

    ReplyDelete
  22. एक नन्हे से बच्चे के चेहरे पर खिलते अलग अलग भावो के रंग दिल को छु लेते है। मन करता है कि देखते रहें और हर पल को, हर भाव को, किसी सांचे मे ढालकर रख लें ताकि कभी उदासी आये तो उन यादों मे दोबारा डुबकर तरोताजा हो सकें।

    नत्तू को ढेर सारा प्यार हमारी तरफ से भी दे दीजियेगा, और बधाई तो आपको इत्ती मिल रही है, उसमे थोडा सा इजाफा हमारी तरफ से भी।

    ReplyDelete
  23. नत्तू पांडे को ढेर सा प्यार, समधी को बधाईयां।
    जमाये रहिये। लालूजी की रेल तो लुढ़क ली।

    ReplyDelete
  24. समधी जी को चुनाव जीतने की बधाई! कैसी भी परिस्थितियाँ हों जन प्रतिनिधि शुचिता और जनता के जीवन स्तर के सुधार के लिए काम कर सकता है। हम उन से यही आशा करते हैं कि वे इसे इसी तरह निभाएँगे।
    नत्तू पाँडे जी का इस दुनिया में स्वागत है। बहुत बहुत आशीर्वाद कि वे इस दुनिया मे ऐसे काम करें जिस से दादा और नाना दोनों परिवारों का नाम रोशन हो।

    ReplyDelete
  25. papaji lag raha hai honey baby ka sath sath aap bhi baby ho gaya hai.

    ReplyDelete
  26. नत्तू जी के भाग्यशाली चरणों के प्रताप का फल श्री रवीन्द्रजी को विजयश्री के रूप में प्राप्त हुआ। सभी को हार्दिक बधाई।

    ReplyDelete
  27. नत्तू पाण्डे के नाना और दादा को बधाइयां...

    ये तो दूसरी ख़ुशी ..... अब तो मिठाई बनती है :)

    ReplyDelete
  28. वाह, थोक के भाव में बधाई हो समधी साहब के एमपी बनने की। पांडेय जी को भी ढेरों बधाईयां सांसद बनने की

    और नाती का सुख तो ऐसा है कि जितना भी देखो, जितना भी उसके साथ रह लो, मन नई भरने वाला।
    सो मस्त है।

    ReplyDelete
  29. नन्हे-मुन्ने के नाना नानी को दादा के जीत की बहुत बहुत बधाई...प्यारे चुनमुन को ढेर सारा प्यार और आशीर्वाद

    ReplyDelete
  30. Dada ji will enjoy dear Honey in his sabbatical &
    Nana ji will try to make yet another excuse to go
    see his new Baby Boy :)
    He has you wrapped around his little finger already ....Life id good !
    Double congrats for double celebrations .
    warm regards,
    - Lavanya

    ReplyDelete
  31. पाण्डेय जी!
    दोनों समाचार सुन कर अच्छा लगा. आपको दोहरी बधाई!

    ReplyDelete
  32. आदरणीय पाण्डेय जी ,
    काफी अच्छा लगा आपका ये संस्मरण ...और उससे भी ज्यादा ...khushi hui ravindr ji kee jeet par.ap donon logon ko hardik badhai. वैसे २२ मई को मैं १० दिनों के लिए घर आ रहा हूँ .यदि आप अपना फोन नंबर दे दें .तो आपसे मुलाकात का सौभाग्य मिलेगा .शुभकामनायें .
    हेमंत कुमार

    ReplyDelete
  33. नत्तू पांडे के नाना और दादा को बधाइयां!

    ReplyDelete
  34. 1)बधाई!
    2)बधाइ!!
    जी विश्व्नाथ

    ReplyDelete
  35. Hamari Badhayee bhi sweekaar karen.

    ReplyDelete
  36. बहुत बहुत बधाई...


    एक दल को 200 सीटे मिलना सुखद है. रोज रोज का टंटा खत्म. वामपंथी भी दूर हुए.

    ReplyDelete
  37. hathi ghhoda palki...Jai ho Nattulal ki..Bahut bahut badhaiyan
    BJP ki bhayanak haar ke beech RAVINDRA ji ki jeet umeed ki ek kiran jagati hai ..Unhe bhi dheron badhaiyan

    ReplyDelete
  38. अनूप जी के शब्दों में कहूँ तो चुनावी माहौल बीत जाने के बाद कोई खास काम नहीं था इसलिए बहुत व्यस्त हो गया था। इसी व्यस्तता में नत्तू पाण्डे (यह नाम बलिया वाले चित्तू पाण्डे की याद दिला गया।) के आगमन वाली पोस्ट पर नहीं जा सका। अब आपने दूसरी खुशखबरी के साथ सबकुछ ताजा कर दिया।

    हमारी ओर से इस दोहरी खुशी की ढेरों बधाइयाँ स्वीकारें।

    ReplyDelete

आपको टिप्पणी करने के लिये अग्रिम धन्यवाद|

हिन्दी या अंग्रेजी में टिप्पणियों का स्वागत है|
--- सादर, ज्ञानदत्त पाण्डेय